अनपरा डी परियोजना के मुख्य महाप्रबन्धक के विरूद्ध कार्यवाही


अनपरा डी

लखनऊ। आगामी गर्मियों में प्रदेश की जनता को निर्बाध एवं बेहतर विद्युत आपूर्ति प्राप्त हो इसके लिये ऊर्जा मंत्री . श्री कान्त शर्मा ने आज उ.प्र. राज्य विद्युत उत्पादन निगम एन.टी.पी.सी. एवं बी.एच.इ.एल. के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुये चेतावनी दी कि विद्युत उत्पादन बढ़ाने के लिये जो भी कार्य हो रहे हैं उन्हें समय से पूरा किया जाये। अधिकारी क्षेत्रों में निर्माणाधीन परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करें और लापरवाह या सुस्त अधिकारियों एवं कम्पनियों पर कड़ी कार्यवाही हो। समय पर कार्य पूरा न कर पाने के लिये उन्होंने एनटीपीसी एवं बीएचइएल के अधिकारियों के भी पेंच कसे।

राज्य उत्पादन निगम की इकाईयों की समीक्षा में उन्होंने कहा कि प्रदेश को ऊर्जा क्षेत्र में आत्म निर्भर बनाने, आधुनिक मानकों के अनुरूप नये बिजली घरों के निर्माण में तेजी तथा सस्ती बिजली प्रदेश की जनता को उपलब्ध कराने की मंशा से यह बैठक हो रही है। आगामी गर्मियों में उत्पादन निगम के तापीय विद्युत गृह अधिकतम उत्पादन सुनिश्चित करें। लेकिन किसी की लापरवाही से यदि कोई मशीन बन्द हुयी तो ऊपर से नीचे तक सभी जिम्मेदार होंगे। अनपारा डी की एक मशीन जो कि कई महीने से बन्द है को लेकर ऊर्जा मंत्री ने जिम्मेदार अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिये। इसी क्रम में अनपरा डी परियोजना के मुख्य महाप्रबन्धक पर कार्यवाई करते हुये चार्जशीट जारी करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि अब छोटे कर्मचारियों एवं अधिकारियों पर ही कार्यवाही नहीं होगी बल्कि परियोजना के बड़े अधिकारियों पर भी जिम्मेदारी तय करके कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि परियोजनाओं के संचालन में वहां कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सुरक्षा मानकों का शत् प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया जाय और इसके लिए जो भी आवश्यक कार्य हैं उन्हें समय से पूर्ण कराया जाय। प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं उ.प्र. पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष आलोक कुमार ने बैठक को सम्बोधित करते हुये कहा कि गर्मियों में विद्युत की मांग अत्यधिक बढ़ जाती है। इस वर्ष 30 लाख से अधिक नये विद्युत कनेक्शन जारी किये गये है। इसलिये मांग में और भी बढ़ोत्तरी की सम्भावना है। इस मांग का एक चैथाई भाग उत्पादन निगम के विद्युत उत्पादन गृह पूरी करते है। इसलिये उनकी जिम्मेदारी है कि गर्मियों में मशीने अपनी पूरी क्षमता के अनुरूप उत्पादन सुनिश्चित करें। जो भी मेन्टेनेन्स आदि होनी है, वह समय से करा ली जाये। किसी की लापरवाही से यदि कोई मशीन खराब हुयी तो यूनिट हेड को जिम्मेदार ठहराया जायेगा और उसके विरूद्ध कार्यवाही होगी।

आलोक कुमार ने बताया कि ऊर्जा मंत्री के निर्देशों के अनुपालन में अनपरा डी परियोजना के मुख्य महाप्रबन्धक को चार्जशीट जारी करने का निर्णय लिया गया है। शक्ति भवन में सम्पन्न इस बैठक में प्रदेश की विभिन्न विद्युत परियोजनाओं के मुख्य महाप्रबन्धक बीएचईएल के निदेशक तथा एनटीपीसी के अधिकारी उपस्थित थे।

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top