मुख्यमंत्री योगी ने सिधौली तहसील के तहसीलदार तथा राजस्व लिपिक को रिश्वत लेने के आरोप में निलम्बित किया


about91

 
तहसील के तत्कालीन उपजिलाधिकारी को विशेष परिनिन्दा प्रविष्टि
मुख्यमंत्री की भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टाॅलरेन्स की नीति के तहत की गयी कार्रवाई
लखनऊ:  रिश्वत लिए जाने के आरोप में सीतापुर जिले की सिधौली तहसील के तहसीलदार श्री सुभाष मणि त्रिपाठी तथा राजस्व लिपिक श्री संजय भार्गव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के निर्देश पर तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है, जबकि तहसील के तत्कालीन उपजिलाधिकारी श्री प्रेम प्रकाश को विशेष परिनिन्दा प्रविष्टि दी गई है।
यह जानकारी आज यहां देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह कार्रवाई मुख्यमंत्री जी की भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टाॅलरेन्स की नीति के तहत की गई है। उन्होंने बताया कि इस प्रकरण को लेकर कल 03 मार्च को कुछ समाचार चैनलों पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसका संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री  ने आरोपित अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए।
उल्लेखनीय है कि इस वीडियो में तहसीलदार सिधौली के आवासीय परिसर में राजस्व लिपिक को हैसियत प्रमाण पत्र जारी करने सम्बन्धी पत्रावलियों पर अग्रिम कार्यवाही करने के लिए रिश्वत लेते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो में प्रत्यक्ष रूप से राजस्व लिपिक की सत्यनिष्ठा संदिग्ध प्रतीत होती है और साथ ही तहसीलदार की भी संलिप्तता प्रतीत होती है। इस संलिप्तता के दृष्टिगत राजस्व लिपिक तथा तहसीलदार को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है तथा दोनों के खिलाफ अनुशासनात्मक/विभागीय कार्रवाई की जा रही है।
प्रवक्ता ने बताया कि इस प्रकरण में सिधौली तहसील के तत्कालीन उपजिलाधिकारी का शिथिल पर्यवेक्षण विदित होता है, जिसके चलते उन्हें विशेष परिनिन्दा प्रविष्टि दी गई है। राजस्व लिपिक के खिलाफ एफ0आई0आर0 दर्ज कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।
———-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top