चीन ने भ्रष्टाचार के संदेह में पाकिस्तान की तीन बड़ी सड़क परियोजनाओं की फंडिंग रोकी


2017_12$largeimg05_Dec_2017_183855307

 

बीजिंग/इस्लामाबाद : चीन ने पाकिस्तान की तीन बड़ी सड़क परियोजना के लिए फंडिंग तत्काल प्रभाव से रोक दी है. पाकिस्तान की ये सड़क परियोजनाएं 50 बिलियन डॉलर की चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर का हिस्सा है. चीन ने भ्रष्टाचार संबंधी रिपोर्ट के आधार पर यह फैसला लिया है. चीन सरकार के इस फैसले से पाकिस्तान की नेशनल हाइवे ऑथिरिटी की एक ट्रिलियन रुपये से अधिक की सड़क परियोनजाएं प्रभावित होंगी. पाकिस्तान को चीन अब ये पैसे नये गाइडलाइंस के आधार पर ही जारी करेगा.

पाकिस्तान की इन तीन सड़क परियोजनाओं का नाम इस प्रकार हैं : डेरा इस्माइल खान – जोब रोड, खुजदर-बासिमा रोड व रायकोट से थाकोट तक बनने वाली कारकोरम हाइवे. डेरा इस्माइल खान – जोब रोड की कुल लंबाई 210 किलोमीटर है, जिस पर 81 बिलियन डॉलर का खर्च आना है. इसमें 66 बिलियन डॉलर रोड के निर्माण पर और 15 बिलियन डॉलर जमीन अधिग्रहण पर खर्च किया जाना है. खुजदर-बासिमा रोड परियोजना 110 किलोमीटर लंबी है, जिस पर 19.76 बिलियन डॉलर खर्च आना है. तीसरी सड़क रायकोट से थाकोट तक बनने वाली कारकोरम हाइवे 136 किलोमीटर लंबी है, जिस पर 8.5 बिलियन डॉलर खर्च होना है.

दरअसल ये सड़क परियोजनाओं पाकिस्तान की अपनी विकास योजनाओं का हिस्सा हैं, लेकिन दिसंबर 2016 में पाकिस्तान के नेशनल हाइवे ऑथिरिटी के प्रवक्ता ने बयान दिया था कि ये सीपीइसी की अंब्रेला प्रोजेक्ट के अंदर रहेंगी ताकि चीन से रिआयती दर पर उसके लिए पैसे मिल सकें. सीपीइसी प्रोजेक्ट 2015 में शुरू की गयी थी, जब चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग पाकिस्तान के दौरे पर गये थे.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top