भारत की रक्षा में सेंध लगाना चाहता था पाकिस्तानी जासूस, ब्रह्मोस मिसाइल यूनिट से गिरफ्तार


गिरफ्तार आरोपी का नाम निशांत अग्रवाल है। वह ब्रह्मोस एयरोस्पेस सेंटर में काम करता है और उस पर मिसाइल यूनिट से जुड़ी तकनीकी एवं महत्वपूर्ण गोपनीय जानकारियां पाकिस्तानी और अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को देने का आरोप है। उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने संयुक्त अभियान चलाकर निशांत को गिरफ्तार किया।

उसे आधिकारिक गोपनीयता कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है। एक टीम रविवार रात से उस पर नजर रखे हुई थी और सोमवार सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया गया। वह पिछले चार साल से डीआरडीओ की नागपुर यूनिट में काम कर रहा है।

ब्रह्मोस एयरोस्पेस भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन और रूस के एनपीओएम का संयुक्त उपक्रम है। पिछले वर्ष इसने हथियार प्रणाली के आधुनिक संस्करणों का परीक्षण किया था। ब्रह्मोस दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है। यह आवाज की गति से करीब तीन गुना गति से हमला करने में सक्षम है।

इसे पनडुब्बी से, पानी के जहाज से, विमान से या जमीन से भी छोड़ा जा सकता है। यह कम ऊंचाई पर तेजी से उड़ान भरती है और इस तरह राडार की आंख से बच जाती है। यह मिसाइल भूमिगत परमाणु बंकरों, कमान एंड कंट्रोल सेंटर्स और समुद्र के ऊपर उड़ रहे विमानों को दूर से ही निशाना बनाने में सक्षम है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top