पं0 दीन दयाल के विचारों पर समाज में सभी लोग चर्चा करें, बहस करें – सुनील बंसल


21765640_1926360451018484_2182833002077090545_o

लखनऊ,। भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने लखनऊ के पर्यटन भवन सभागार में आयोजित अवध क्षेत्र की संगोष्ठी लोकमत परिवार एवं लोकतंत्रिक प्रासंगिकता के उद्घाटन भाषण में कहा कि पं0 दीन दयाल के जन्मशताब्दी वर्ष में पंड़ित जी के समाज के बारे में, राजनीति के बारे में उनका अपना एक वैचारिक दर्शन था। जिन परिस्थितियों में पंड़ित जी ने जो बातें कही थी आज भी उनकी बाते उतनी ही प्रासंगिक हैं, उनके द्वारा कही गयी बातों पर अनुसंधान करने की आवश्यकता है। मैं देख रहा हॅू देश के बहुत सारे विश्वविद्यालयों में उनके विचारों को लोग पढ़ भी रहे है समझ भी रहे हैं उस पर रिसर्च भी कर रहे है और उस पर नये-नये ढंग से उसकों प्रस्तुत करने का काम भी हो रहा है।

श्री बसंल ने कहा कि पं. दीन दयाल जी को जितना पढ़ा है जितना समझा है विचार दिया, हर जन तक वो पहुंचे, समाज में सभी लोग उनके विचारों पर चर्चा करें बहस करें इस दृष्टि से इस संगोष्ठी का आयोजन हो रहा है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जितने भी देश आजाद हुये उसमें से भारत एक है। आज हम देखेंगे कि जितने देशों ने लोकतंत्र को स्वीकार किया है उनके स्वस्थ्य लोकतंत्र दुनिया के किसी एक देश में है तो वह अपना देश भारत हे। भारतीय लोकतंत्र में एक मात्र अपवाद वह आपातकाल का समय है। एक मात्र अपवाद को छोड़ दे तो अपने देशका लोकतंत्र एक नियन्त्रित प्रक्रिया के तहत चलता रहा, वास्तव में यह भारत के लिए गर्व की बात कि हम लोग लोकतंत्र में रहते है जीते हैं उसे महसूस भी करते है।

श्री बंसल ने कहा कि अपने यहां इतने चुनाव होते है कि चुनाव की अधिकता के कारण कई बार इस लोकतंत्र की अच्छी बातों को अनुभूत कर पाते, गौरव नहीं कर पाते पूरे वर्ष भर देश में कही न कही चुनाव चलने के कारण से इसके उत्साह को कम अनुभव कर पाते हैं। लोकतंत्र होना चाहिए लोकतंत्र सबको अच्छा भी लगता हैं जहां लोकतंत्र नहीं है वहां के लोग इस बात को उठाते और इसके लिए आंदोलन भी करते रहते है। लोकतंत्र लोगों को अच्छा भी लगता है लेकिन कई बार लोकतंत्र को लेकर हम सबके मन कई प्रश्न भी खड़े होते है।

कार्यक्रम के संयोजक एवं प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने कार्यक्रम के आयोजन करने का हेतु बताया एवं कहा कि आज के समय में पं. दीन दयाल जी द्वारा उस समय के परिप्रेक्ष्प में कही गयी बाते आज भी उतनी ही प्रांसगिंक है कार्यक्रम की अध्यक्षता किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एमएल बी भट्ट एवं धन्यवाद ज्ञापन लखनऊ विश्वविद्यलय के कुलपति एसपी सिंह ने किया। कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रीय संयोजक त्रयबंक जी ने किया गोष्ठी में मुख्यरूप से प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, क्षेत्रीय महामंत्री संगठन ब्रज बहादुर जी, प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिचन्द्र श्रीवास्तव, अरूण कान्त क्षेत्रीय संगोष्ठी समिति के सदस्य दिलीप श्रीवास्तव, अंगद सिंह, नरेन्द्र सिंह देवड़ी आदि रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top