सरकार कर्मचारियों का उत्पीड़न नही होने देगीः चेतन चैहान


21688292_1925282424459620_6847265775711807868_o
उ.प्र. औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ सौंपा 18 सूत्रीय मांग पत्र

लखनऊ ।प्रदेश के मंत्री, व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास, उ.प्र. सरकार, चेतन चैहान ने कहा कि नवरात्रि का शुभ अवसर आज से ही शुरू हुआ है, पहले ही आपने बेहतर कार्यक्रम किया है। आपके मांग पत्र पर सहानुभूति पूर्व विचार होगा। प्रदेश सरकार हर सवर्गे विकास के प्रति कटिबद्ध है। कर्मचारी संवर्ग सरकार के विकास में भागीदार बने, सरकार कर्मचारियों की हर समस्याओं का निदान करनेगी। कर्मचारियों का उत्पीडन नही होगा।

श्री चैहान आज उ.प्र. औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संध का अभिनंदन एवं स्वागत समारोह को उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण निदेशालय प्रेक्षागृह सप्रू मार्ग में सम्बोधित कर रहे थे। जबकि विशिष्ट अतिथि सुरेश पासी, राज्य मंत्री,व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास, उ.प्र. सरकार ने कहा कि आईटीआई कर्मिकों की जो समस्याएं हमारे स्तर पर निपटाने के लायक है उनका निराकरण कर दिया जाएगा। अगर इसके बाद भी कुछ सस्याओं का निस्तारण हमारे स्तर पर नही हो पाता तो हम उन मांगों को मुख्यमंत्री  के संज्ञान में लायेगें। इस दौरान उ.प्र. औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ के अध्यक्ष ओ.पी. सिंह ने कार्यक्रम के मुख्यअतिथि मंत्री, व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास, उ.प्र. सरकार, श्री चेतन चैहान को 18 सूत्रीय मांग पत्र देते हुए समस्याओं के निराकरण की मांग रखी।

उन्होंने मांग पत्र में मुख्य मांगो का जिक्र करते हुए वर्ष 2008 से लागू छठे वेतन आयोग की एसीपी व्यवस्था के अन्तर्गत अवर अभियंताओं की भाॅति 4600 ग्रेड पे इग्नोर किया जाए। डीजीईटी भारत सरकार के निर्देशानुसार अनुदेशक का प्रारम्भिक ग्रेड पे 4800 प्रदान किया जाए। अनुदेशक एवं कार्यदेशक संवर्ग का पदनाम परिवर्तन कर क्रमशः सहायक प्रशिक्षण अधिकारी और प्रशिक्षण अधिकारी किया जाए। अनुदेशक से कार्यदेशक के रिक्त पदों पर तथा कार्यदेशको से प्रधानाचार्य के पद पर शीघ्र पदोन्नति की जाए। वार्षिक चरित्र प्रविष्टि का डिजिटाईजेश किया जाए। बीएलओं की डियुटी से मुक्त रखा जाए।

इस दौरान अपने सम्बोधन में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी ने कहा कि प्रदेश का कर्मचारी संवर्ग विभिन्न तरह की विसंगतियों से जुझ रहा है। कुछ मामले विभागाध्यक्ष स्तर पर लम्बित है। परिषद गत दिवस प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर कर्मचारी समस्याओं से उन्हें अवगत करा चुका है। जबकि परिषद के महामंत्री शिवबरन सिंह यादव ने कहा कि परिषद लगातार कर्मचारियों की समस्याओं से शासन और सरकार को अवगत करा रहा है। हम कुछ समय इंतजार के बाद जरूरत पड़ने पर सरकार के खिलाफ सड़क पर भी उतर सकते है।

इस स्वागत और सम्मान समारोह को विशेष सचिव मनमोहन चैधरी, निदेशक राजेन्द्र प्रसाद, संयुक्त निदेशक मानपाल सिंह एवं नीरज कुमार तथा सहायक निदेशक अजीत सिंह ने सम्बोधित किया। आमसभा एवं उन्नयन एवं कर्मचारी कल्याण गोष्ठी को महामंत्री अनिल कुमार पाठक, श्रीराम दोहरे, मस्त राम वर्मा, जयशंकर चैधरी, एमपी सिंह, दिनेश निगम, महावीर सिंह, इन्द्र देव यादव, एसपी निगम ने सम्बोधित किया। धन्यवाद प्रस्ताव प्रदेश महामंत्री अनिल कुमार पाठक ने किया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top