उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त —–राजेन्द्र चौधरी


rre43e43e43e426)
लखनऊ |
     समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गयी है। भाजपा सरकार में बलात्कार, छेड़छाड़ की जो घटनाएं हो रही है उससे लड़कियों का जीवन दूभर हो गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कैंसर पीड़ित किषोरी से हुई गैंगरेप की घटना बेहद शर्मनाक और अमानवीय हैं। मिर्जापुर में विदेशी महिला पर्यटकों के साथ छेड़खानी, जनपद हमीरपुर के राठ में स्कूली छात्राओं के साथ शोहदों का दुव्र्यवहार, इलाहाबाद में आठ वर्षीय नाबालिग से रेप जैसी घटनाओं की संख्या उत्तर प्रदेश में सामान्य हो गयी है। राष्ट्रीय अपराध ब्यूरों रिकार्ड के अनुसार उत्तर प्रदेश में महिलाओं के उत्पीड़न में वृृद्धि से दूसरे राज्यों से बदतर स्थिति हो गई हैं।
उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं दिल्ली से मुम्बई हवाई यात्रा के दौरान अभिनेत्री जायरा वसीम के साथ छेड़छाड़ की घटना से केन्द्र और राज्य सरकार में महिलाओं के प्रति बढ़ रही असुरक्षा को महसूस किया जा सकता है।
 श्री चौधरी ने कहा कि भाजपा प्रदेश सरकार के नौ महीने के कार्यकाल में ही अपराधियों का मनोबल बढ़ गया हैं हत्या, लूटपाट, जैसे अपराधों में तेजी आने से पूरे प्रदेश में अराजकता व्याप्त हो गयी है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को पिछली समाजवादी सरकार से प्रेरणा लेते हुये कानून व्यवस्था बेहतर करने के लिये श्री अखिलेश यादव द्वारा शुरू किये गये यूपी 100 डायल और महिला सुरक्षा के लिये 1090 को बेहतर तरीके से क्रियान्वयन का कार्य करना चाहिए तभी उत्तर प्रदेश में कानून का राज कायम हो पायेगा।
  श्री राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार को यह समझ लेना चाहिए कि बयानबाजी से कानून व्यवस्था ठीक नहीं होगी उसके लिये कठोर कदम भी उठाने पड़ेंगे। आज तो हालत यह है कि लचर कानून व्यवस्था के कारण छात्राऐं स्कूल आने जाने में असुरक्षित महसूस करती है। महिलाऐं तक दिन में भी घर से बाहर जाने में डरी हुई है। भाजपा राज में आमजनता डरी और सहमी हुई है। राज्य पूरी तरह अराजकता की गिरफ्त में है।
  जनता का मानना है कि इससे लाख गुना बेहतर कानून व्यवस्था श्री अखिलेश यादव के राज में थी। आज तो सरेआम गुण्डा गर्दी होती है पूछने वाला कोई नहीं। जब सŸाारूढ़ दल के कार्यकर्Ÿाा कानून के साथ खिलवाड़ करते हो तो कानून का राज कहां टिक पायेगा? अब तो जनता को 2019 का इंतजार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top