मुख्यमंत्री ने सरयू तट पर 03 लाख से अधिक दीप जलाए गए, एक विश्व रिकाॅर्ड


PRESS (8)
राम की पैड़ी पर रिमोट के माध्यम से मुख्य दीप का प्रज्ज्वलन
 
लेजर शो का आयोजन तथा भव्य आतिशबाजी का प्रदर्शन
 
अयोध्या |  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  तथा कोरिया की प्रथम महिला श्रीमती किमजोंग-सुक द्वारा आज अयोध्या में ‘दीपोत्सव-2018’ के तहत राम की पैड़ी पर विधिवत पूजा-अर्चना की गई। उन्होंने सरयू तट पर रिमोट के माध्यम से मुख्य दीप का प्रज्ज्वलन किया। इस अवसर पर सरयू तट पर 03 लाख से अधिक दीप जलाए गए, जो अपने में एक विश्व रिकाॅर्ड है।
इसके अलावा, लेजर शो का आयोजन तथा भव्य आतिशबाजी का प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर उपस्थित जनसमूह ने इस आकर्षक दृश्य का अवलोकन किया। लाखों दीपों के प्रज्ज्वलन से सरयू जी के तट की छटा देखते ही बनती थी।
इस अवसर पर औद्योगिक विकास मंत्री श्री सतीश महाना, परिवार कल्याण मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी सहित अन्य मंत्रिगण, जनप्रतिनिधिगण एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
पूर्व में, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला श्रीमती किमजोंग-सुक ने आज यहाँ ‘रानी हो’ स्मृति पार्क में पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री जी और दक्षिण कोरिया के पर्यटन, संस्कृति एवं खेलकूद मंत्री श्री डू जांग ह्वान द्वारा ‘रानी हो’ स्मारक का शिलान्यास दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला की उपस्थिति में किया गया।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि भारत और कोरिया के मध्य सांस्कृतिक सम्बन्धों को मजबूत करने और बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्मारक का शिलान्यास किया गया है। उन्होंने कहा कि दो हजार वर्ष पूर्व अयोध्या की राजकुमारी दक्षिण कोरिया के राजकुमार से विवाह बंधन में बंधी थी। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी व कोरिया के राष्ट्रपति के प्रति आभार व्यक्त किया।
दक्षिण कोरिया के पर्यटन, संस्कृति एवं खेलकूद मंत्री श्री डू जांग ह्वान ने कहा कि भारत व कोरिया के ऐतिहासिक सम्बन्ध रहे हैं। उन्होंने कहा कि ‘रानी हो’ स्मारक के शिलान्यास से भारत व कोरिया के ऐतिहासिक व सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा व एक नई ऊँचाई मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस स्मारक में राजा व रानी का पैवेलियन भी बनाया जाएगा, जो तत्कालीन वातावरण का आभास कराएगा। भारत के अतीत को जोड़ने के लिए दो हजार वर्ष पूर्व अयोध्या की राजकुमारी दक्षिण कोरिया के राजकुमार के साथ विवाह बंधन में बंधी थी। इस स्मृति को दोनों देशों ने आज भी संजो कर रखा है।
दक्षिण कोरिया के पर्यटन, संस्कृति एवं खेलकूद मंत्री ने कहा कि अंधकार को दूर करने के लिए रोशनी की आवश्यकता होती है। एक रोशनी हमारे अन्दर भी होती है, जो प्रेम की रोशनी होती है। इससे पूर्व, कोरियाई व प्रयागराज के कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
इस अवसर पर राज्यपाल श्री राम नाईक जी, बिहार के राज्यपाल श्री लाल जी टण्डन, उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ दिनेश शर्मा, केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री वी0के0 सिंह, मुख्य सचिव डॉ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव पर्यटन एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
‘दीपोत्सव-2018’ के तहत आयोजित किए गए विभिन्न कार्यक्रमों में आज अयोध्या में सर्वप्रथम भगवान श्रीराम के लीला चरित्र से जुड़ी विभिन्न 15 झांकियों सहित भव्य शोभा यात्रा साकेत महाविद्यालय से प्रारम्भ हुई। यह शोभा यात्रा अयोध्या के मुख्य मार्ग से होकर हनुमान गुफा पहुंची। इस शोभा यात्रा में कोरिया, रूस, लाओस, त्रिनिडाड के कलाकारों के साथ ही, प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों के 500 लोक कलाकारों द्वारा सराहनीय प्रदर्शन किया गया। यह प्रदर्शन जनता के आकर्षण का केन्द्र बना। शोभा यात्रा में प्रदेश के संस्कृति मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चैधरी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।
इस शोभा यात्रा में पुत्रेष्ठ यज्ञ, राम जन्म, धनुष यज्ञ, राम विवाह, कैकेयी प्रसंग/राम वनगमन, केवट प्रसंग, ताड़का वध, अशोक वाटिका/लक्ष्मण शक्ति, राम-रावण युद्ध, पुष्पक विमान, राज्याभिषेक आदि प्रसंगों से सम्बन्धित झांकियां प्रस्तुत की गई। इनके अलावा, कोरिया, रूस, लाओस और त्रिनिडाड की भी झांकियां शोभा यात्रा में शामिल रहीं। शोभा यात्रा के दौरान जगह-जगह पर विशाल जनसमूह ने झांकियों का अवलोकन करते हुए पुष्प वर्षा की गई। शोभा यात्रा को सांसद श्री लल्लू सिंह एवं अयोध्या के मेयर श्री ऋषिकेश उपाध्याय ने झण्डी दिखाकर रवाना किया।
———-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top