हरिद्वार में बोले राजेन्द्र चौधरी, केंद्र सरकार की नीतियों से जनता में निराशा का माहौल


2c7569cc-6a36-488e-b8d6-203ad295da71
लखनऊ|
        समाजवादी पार्टी के उत्तराखंड प्रभारी राजेन्द्र चौधरी ने हरिद्वार में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों से जनता में निराशा का माहौल है।पांच बजट के कार्यकाल में जनहित का कोई काम नही हुआ,किसानों का कर्ज बढ़ा है,अन्नदाता आत्महत्या करने को विवश है,कारपोरेट लूट खुलेआम हो रही है,रोजगार के अवसर कम किये जा रहे हैं,जीएसटी और नोटबन्दी से अर्थव्यवस्था चैपट हो गयी,महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है,छोटे उद्योग बंद हो रहे हैं,सरकार हर मोर्चे पर विफल है।
राष्ट्रीय सचिव श्री चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार में असहमति का कोई सम्मान नही रह गया है।समाज में दूरी और नफरत फैलाना भाजपा का घोषित एजेंडा है।जनता डरी और सहमी हुई है।आर एस एस जनता के द्वारा निर्वाचित सरकार से मनमानी कर रही है।यह रवैया संविधान विरोधी है।प्रधानमंत्री जी जनता के मुद्दे सुलझाने की जगह उलझा रहे हैं।किसानों की समस्या दूर करने में सरकार की कोई रुचि नही है।चार वर्षों का कार्यकाल सिर्फ हवा-हवाई साबित हुआ।
मुख्य प्रवक्ता श्री चौधरी ने कहा कि  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव की चिंता देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने की रहती है।श्री यादव हमेशा समाज के वंचित तबके,छात्रों-नौजवानों,किसानों की लड़ाई पूरी ताकत से लड़ते रहते हैं।इसीलिए जनता के बीच उनकी लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है।भाजपा सरकारों के पंद्रह वर्षो के कार्यकाल में कोई भी ऐसा विकास कार्य नही हुआ जिसका उदाहरण दिया जा सके।गुजरात में बीस वर्षों के भाजपा शासन में एक एक्सप्रेसवे का निर्माण तक नही हो सका जबकि उत्तर प्रदेश में श्री अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्व काल में बाईस महीने में ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे बनकर तैयार हो गया और उस पर आवागमन भी होने लगा।
श्री चौधरी ने कहा कि उत्तराखंड में पलायन,कुटीर उद्योगों का संकट,खनन और शराब की समस्या को दूर करने की जिम्मेदारी जनता ने भाजपा को दिया था,लेकिन बीजेपी ने जनता के साथ धोखा किया है।पन्द्रह महीने के कार्यकाल में पलायन बढ़ा है,कुटीर उद्योग चैपट हो रहे हैं,रोजगार नही है,शराब और खनन माफिया की अराजकता चरम पर है।भाजपा शासन में धार्मिक स्थल भी शराब से अछूते नही रह गए।उत्तराखंड ऊर्जा प्रदेश के रूप में जाना जाता था लेकिन भाजपा की बिजली कटौती की नीति से प्रदेश बदहाल हो रहा है।श्री चैधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में श्री अखिलेश यादव के पांच वर्षों की समाजवादी सरकार में विद्युत उत्पादन को दुगुना करने के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में 20 से 22 घण्टे आपूर्ति की व्यवस्था की गई थी।
श्री चौधरी ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव देश की दिशा तय करेगा।जनता बीजेपी को सबक सिखाने को तैयार बैठी है।लोकतंत्र में असली ताकत जनता के पास होती है,भाजपा को यह बात समझ लेनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top