इन्दिरा जी की विचारधारा की लड़ाई लड़ने के लिए उस रास्ते पर चलना है—–गुलाम नबी आजाद


igg
लखनऊ |   भारत रत्न-यशस्वी पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 इन्दिरा गाँधी जी का जन्म शताब्दी वर्ष समारोह (स्मरणोत्सव) आज ज्यूपिटर हाल, इन्दिरा गाँधी प्रतिष्ठान, गोमतीनगर, लखनऊ में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत इन्दिरा जी के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन संगठन प्रभारी  फजले मसूद एवं डॉ0 विनोद चन्द्रा ने किया।
समारोह में आये हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजब्बर, सांसद ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज इन्दिरा जी की जन्मशताब्दी पर प्रदेश के 12जनपदों के कांग्रेस प्रतिनिधि, जिला-शहर अध्यक्ष, उनकी कमेटी के सदस्य एकत्र हुए हैं जो कांग्रेस की आत्मा को प्रणाम करने आये हैं। उन्होने कहा कि आज देश में अजीब संकट पैदा हो गया है देशभक्ति और राष्ट्रभक्ति का नारा दिया जा रहा है, देश की परिभाषा बदलने का प्रयास किया जा रहा है, ऐसे में इन्दिरा जी केा याद करके देश के समक्ष आये संकट के विरूद्ध आप सभी कांग्रेसजनों के ताकत के बल पर संघर्ष करना है।
समारोह को सम्बोधित करते हुए अ0भा0 कंाग्रेस कमेटी के महासचिव प्रभारी उ0प्र0 श्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारे देश में जितने भी धर्म हैं सब हजारों साल पुराने हैं और सभी धर्म बढ़ रहे हैं क्योंकि हम सभी धर्म में विश्वास करते हैं और उन धर्मों के महापुरूषों को अपनी प्रेरणा मानते हैं। उन्होने कहा कि यही महापुरूष किसी न किसी रूप में हमारे दिमाग में, दिल में बसतें हैं और वह आगे चलते हुए हमें भटकने नहीं देता। उन्होने कहा कि हमारे पास जो राजनीतिक सम्पत्ति है, कुर्बानी है वह किसी के पास नहीं है। गरीब से अमीर होना आसान है लेकिन अमीर से गरीब बनना काफी मुश्किल है, जैसे कि भाजपा कहती है कि आज देश के सर्वोच्च पदों पर गरीब लेाग पहुंचे हैं, इस पर उन्होने गांधी जी और नेहरू जी का उदाहरण देते हुए कहा कि वह दोनों बैरिस्टर थे और उस समय बहुत बड़े परिवारों से थे लेकिन देश के लिए सब कुछ त्याग कर लेागों के लिए गरीब बनकर आजादी की लड़ाई लड़ी। उन्होने पड़ोसी देश का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां के प्रधानमंत्री के कई देशों में कई मकान हैं हमारे यहां तीन प्रधानमंत्री देने वाले उस परिवार में अपना मकान भी नहीं। किसी के खिलाफ बोलना आसान है। हमारे देश के प्रधानमंत्री विदेशों में पांच बार शूट बदलते हैं। उन्होने कहा कि इन्दिरा जी का जीवन संघर्षों से भरा रहा। बचपन से लेकर आजादी के संघर्ष और प्रधानमंत्री बनने तक उन्होने बहुत संघर्ष किया। प्रधानमंत्री बनने पर देश के विकास, हरितक्रान्ति, बैंकों के राष्ट्रीकरण, प्रीवीपर्स की समाप्ति जैसे साहसिक निर्णय लेकर उन्होने अपनी राजनीतिक सूझबूझ का पूरे विश्व में लेाहा मनवाया। उन्होने कहा कि उ0प्र0 पूरे देश को दिशा देता है। आज विचारधाराओं की लड़ाई है। हम सभी मजबूत इरादे से आगे बढ़ेंगे और हम अपनी विचारधारा को मजबूत करेंगे। इन्दिरा जी ने जिस तरह लड़ाई लड़ी हम लोगों को उनसे प्रेरणा लेते हुए विचारधारा की लड़ाई लड़ने के लिए उस रास्ते पर चलना है और संघर्ष करना है।
समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में माजूद पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री मणिशंकर अय्यर ने कहा कि इन्दिरा जी ने उस दौर में देश की सत्ता संभाली जब देश की स्थित अत्यंत खराब थी। देश अकाल की विभीषिका से जूझ रहा था। चीन और पाकिस्तान के साथ युद्ध में अपार आर्थिक नुकसान हो चुका था। देश में अनाज की कमी थी। डॉलर थे नहीं और धन की कमी ऊपर से थी ऐसे में अमेरिका से गेहूं मंगाना पड़ा देश के लोगों का पेट भरने के लिए, किन्तु इन्दिरा जी ने अपनी स्वाभिमानी सोच और देश की स्वतंत्रता की आन-बान-शान को बिना झुकाये ही राजनीतिक कौशल से न सिर्फ अमेरिका से गेहूं मंगाया बल्कि अनाज के संकट को दूर करने के लिए ‘हरित क्रान्ति’ लाकर दो वर्ष में ही देश को अनाज सहित हर क्षेत्र में समृद्धशाली बनाया। उन्होने एक तरफ विश्व में भारत की शक्ति का लोहा मनवाया वहीं समूचे विश्व के दबाव और घरेलू संकटों से जूझते हुए भारत और स्वयं विश्व की सबसे ताकतवर नेता के रूप में स्थापित किया। उन्होने कहा कि आज इन्दिरा जी की जन्मशताब्दी समारोह में इन्दिरा जी के उन आदर्शों, त्याग, बलिदान को याद करते हुए एक बार फिर देश को एकजुट करके देश को फासिस्टवादी ताकतों से मुक्त कराने की आवश्यकता है।

 

समारोह में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रकाशित इन्दिरा जी की जन्मशताब्दी स्मरणोत्सव पर ‘‘इन्दिरा गांधी-संघर्ष और योगदान’’ नामक पुस्तक का विमोचन किया गया।
समारोह में अ0भा0 कांग्रेस कार्यसमिति की सदस्य श्रीमती मोहसिना किदवई सांसद, सांसद सर्वश्री प्रमोद तिवारी, पी0एल0 पुनिया एवं डा0 संजय सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री श्रीप्रकाश जायसवाल एवं जितिन प्रसाद, अ0भा0 कांग्रेस कमेटी के सचिव-सहप्रभारी उ0प्र0 श्री जुबेर खान एवं श्री राना गोस्वामी, पूर्व सांसद श्री राजाराम पाल, विधायक श्रीमती आराधना मिश्रा, श्री दीपक सिंह, मो0 सुहैल अंसारी, पूर्व मंत्री श्री रामकृष्ण द्विवेदी, डॉ0 अम्मार रिजवी, सत्यदेव त्रिपाठी एवं राजबहादुर, पूर्व सांसद डा0 संतोष सिंह एवं श्री जफर अली नकवी, सुश्री अनुसुइया शर्मा सहित कई वरिष्ठ नेतागण मौजूद रहे।
समारोह के अन्त में कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता श्री अजय कुमार लल्लू ने समारोह में आये हुए सभी अतिथियों एवं कांग्रेसजनों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए पंजाब, राजस्थान एवं आज दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई की जीत पर बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top