यशवंत सिन्हा ने कहा किआज इमर्जेंसी से बदतर हालत है,शत्रुघ्न सिन्हा बोले आज लोगों को डराने-धमकाने की राजनीति हो रही है


11-10 g
लखनऊ |     समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में श्री जयप्रकाश नारायण की 117वीं जयंती पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री यशवंत सिन्हा तथा फिल्मी नायक श्री शत्रुघ्न सिन्हा उर्फ बिहारी बाबू भी मौजूद थे |  श्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि जब देश में अंधेरा था, तानाशाही के दिन थे जब जयप्रकाश जी ने दूसरी आजादी की लड़ाई लड़ी। आज इमर्जेंसी से बदतर हालत है। इसकी चुनौती से हम मिलकर निबटेंगे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्री संस्थाएं खतरे में है। मीडिया को झुकाने का काम हो रहा है। एक निष्पक्ष पत्र के सम्पादक के यहां छापा डाला गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मनमानी करते हैं। देश जबर्दस्ती और झूठ से नहीं चलेगा। चाहे जो कुर्बानी देनी पड़े, हम इस लड़ाई को लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से भाजपा की छुट्टी होगी तो पूरे देश से छुट्टी हो जाएगी।

प्रसिद्ध सिने कलाकार तथा पूर्व मंत्री श्री शत्रुघ्न सिन्हा उर्फ बिहारी बाबू ने कहा कि वे जेपी से प्रभावित होकर राजनीति में आए थे। अटल जी के वक्त लोकशाही थी आज तानाशाही चल रही है। खोखली जुमलेबाजी नहीं चलेगी। आज लोगों को डराने-धमकाने की राजनीति हो रही है। नोटबंदी की मार से उबरे नहीं थे कि जीएसटी लगा दी गई जिसमें अब तक 357 संशोधन हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी के ऊर्जावान और ओजस्वी नेतृत्व में उत्तर प्रदेश जयप्रकाश जी के सपनों को पूरा करेगा और भाजपा का सफाया करने में सफल होगा।
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज लोकतांत्रिक संस्थाओं पर सीधा हमला हो रहा है। हर किसी पर किसी न किसी तरह का दबाव है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है। ऐसे हालात में लोकतंत्र कैसे रह सकता है? देश इंतजार कर रहा है लोकसभा चुनावों का जिसमें जनता भाजपा का हिसाब किताब करेगी। भाजपा के खिलाफ अब सम्पूर्ण सफाया अभियान चलाया जाएगा। सम्पूर्ण क्रान्ति के मंत्रदाता को यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
       श्री यादव ने समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में श्री जयप्रकाश नारायण की 117वीं जयंती पर उनके चित्र व मूर्ति पर माल्यार्पण के पश्चात हजारों उपस्थित लोगों को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा जयप्रकाश जी का बड़ा व्यक्तित्व था। उन्होंने ऐसे समाज का रास्ता दिखाया जो जातीय भेदभाव से परे हो। श्री यादव के साथ पूर्व केन्द्रीय विŸामंत्री श्री यशवंत सिन्हा तथा फिल्मी नायक श्री शत्रुघ्न सिन्हा उर्फ बिहारी बाबू भी मौजूद थे। इस अवसर पर विशिष्ट व्यक्तियों को लोकनायक सम्मान भी दिया गया।
 कार्यक्रम का संयोजन/संचालन श्री दीपक रंजन ने किया। आज के समारोह में उपस्थित लोगों में जबर्दस्त उत्साह था। श्री यशवंत सिन्हा और श्री शत्रुघ्न सिन्हा सहित अन्य वक्ताओं ने श्री अखिलेश जी के नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके प्रति जनता में भारी विश्वास है। श्री शत्रुघ्न सिन्हा ने जब अखिलेश यादव जिन्दाबाद के नारे लगाये तो लोगों का जोश हिलोरे लेने लगा।
 श्री अखिलेश यादव ने कहा कि श्री जयप्रकाश नारायण ने देश को सम्पूर्ण क्रान्ति का नारा दिया था। उससे दिल्ली हिल गई थी। अब देश की सŸाा पर काबिज भाजपा का सन् 2019 में उत्तर प्रदेश और बिहार में सफाया होना तय है। जनता को बस चुनाव की तारीखों का इंतजार है। जनता तभी हिसाब बराबर कर लेगी।
 श्री यादव ने कहा कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार कहां मिटा? मंहगाई बढ़ी है। बड़ी-बड़ी डीलें हो गई किसी को पता नहीं चला। उन्होंने कहा कि गुजरात से यू.पी. बिहार के उन्हीं लोगों को भगाया गया जिन्होंने भाजपा को सŸाा में बिठाया। भाजपा के लोगों के इशारे पर उन्हें अपमानित कर देश तोड़ने की साजिश की गई है।
 श्री अखिलेश यादव ने याद दिलाया कि लखनऊ में जय प्रकाश जी के नाम पर समाजवादी सरकार में एक शानदार इमारत जेपी इंटरनेशनल सेंटर बना है। जिसके शिलान्यास के अवसर पर श्री मुलायम सिंह यादव तथा श्री जार्ज फर्नाडीज भी मौजूद थे। वहां भाजपा ने अब काम रोक दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जेपी की अगली जयंती वहीं मनाई जाएगी।
         इस समारोह में जयप्रकाश नारायण जी को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए जिन्होंने अपने विचार व्यक्त किए उनमें प्रमुख थे सर्वश्री आलोक रंजन, जस्टिस एस.सी.वर्मा, ओ.पी. श्रीवास्तव, सतीश निगम, रामगोविन्द चौधरी, अहमद हसन, सर्वेश अस्थाना, टी.पी. सिंह, देवेन्द्र (जे.पी. के भांजे), मुकेश श्रीवास्तव,  कुमकुम आदर्श। इनके अतिरिक्त सर्वश्री एस.आर.एस. यादव, अभिषेक मिश्रा, राहुल सक्सेना, विनय श्रीवास्तव, डाॅ0 कुलदीप, आर.वी. सक्सेना, श्रीमती ललिता रानी, अंजू श्रीवास्तव, रोहिणी सक्सेना, आर.एस. वर्मा, रीना श्रीवास्तव, के.के. श्रीवास्तव, गोपाल कृष्ण सक्सेना, अजय कुमार, आदर्श कुमार, धीरज श्रीवास्तव, अमित श्रीवास्तव, तथा मुकेश राज की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top